कॉमिक्स अगेंस्ट कोरोना: गूगल डूडल

मित्रों आज फिर हम बात करेंगे अपने चर्चित सेगमेंट और केटेगरी “कॉमिक्स अगेंस्ट कोरोना” पर, अगर अपने इससे पहले के आर्टिकल या आर्टवर्क्स नहीं देखे है तो मैं कहूँगा आप जरा उनपर भी एक नज़र डाल लीजिये, हालाँकि इस लेख का उनसे कोई लेना देना नहीं है फिर भी आपको “कॉमिक्स अगेंस्ट कोरोना” की पृष्ठभूमि पता होनी चाहिए, नीचे उनके लिंक्स दिए गए है आप उन्हें पढ़कर इस संकल्पना को समझ सकते है!

आज मै यहाँ पे बात कर रहा हूँ गूगल डूडल की, अब आप कहेंगे इसमें ऐसा खास क्या है? तो मेरा जवाब होगा, बिलकुल है, बहोत ही खास है लेकिन पहले आप को मैं ये बता दूँ की ‘डूडल’ का अर्थ क्या होता है. डूडल असल में एक आर्ट फॉर्म ही है, कार्टूनिस्ट और चित्रकार कई बार इसी पद्दति का इस्तेमाल करते हुए आर्टवर्क्स बनाते है खासकर जब कोई छोटी कॉमिक स्ट्रिप बनानी हो तो ये बहोत कारगर तकनीक है. इसमें पेंसिल को बिना उठाए ड्राइंग बोर्ड पर पेन/पेंसिल को चलाया जाता है और रेखाओं एवं लकीरों के माध्यम से सार को बताया जाता है, जो बहोत ही महारत हासिल कर चुके उनके आर्टवर्क्स तो देखने लायक होते है, समझाने के लिए नीचे एक चित्र संलग्न कर रहा हूँ.

अब आप डूडल क्या है इसे समझ गए होंगे, अब बात करेंगे गूगल डूडल की. गूगल विश्व के सबसे विशाल और संपन्न कंपनियों में से एक है, उनका काम तो बड़ा विस्तृत है पर सबसे ज्यदा प्रसिद्ध है उनका ‘सर्च इंजन’ (वर्ल्ड वाइड वेब पर कुछ भी खोजने हेतु). जब भी आप Google.com या Google.co.in खोलते है किसी भी वेब ब्राउज़र पर तब आपको अपने सामने रंगबिरंगा ‘गूगल’ लिखा दिखाई देता है और हर रोज़ (पहले ये मात्र खास दिन या मौके पर ही होता था) वो किसी ना किसी को श्रद्धांजलि या सम्मान देता दिखाई देता है और उसे हम जानते है ‘गूगल डूडल’ के नाम से!

साभार: गूगल

पिछले कुछ महीनों में पूरे विश्व पर कोरोना ने महामारी का रूप ले रखा है, लाखों लोग इससे प्रभावित है, जनता घरों में लॉकडाउन है लेकिन फिर भी प्रसाशन चौकन्ना है एवं लोगो की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखने की कोशिश कर रही है. उम्मीद करता हूँ हम जल्द ही इसके उपर विजय प्राप्त कर लें अन्यथा परिणाम गंभीर भी हो सकते है, इसलिए देश की सरकार और प्रशासन की बात ध्यान से सुने और उन्हें अमल में लायें. बहरहाल आपकी सुविधा का ध्यान कौन रख रहा है ज़मीनी स्तर पर? क्या आप जानते है? अगर नहीं तो मै बताता हूँ, वो है पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, सामान वितरण करने वालें, दूधवाला, किराना वालें, किसान, सफाईकर्मी, शोधकर्ता एवं वैज्ञानिक समुदाय, डॉक्टर्स और उनका पूरा हॉस्पिटल स्टाफ और गूगल कुछ दिनों से इन्हें सम्मान प्रदान कर रहा था, मुझे विश्वास है हममें से कईयों ने इसपर ध्यान नहीं दिया होगा, प्रधानमंत्री द्वारा ताली और बर्तन बजाना उनके लिए एक प्रकार से उनके द्वारा किये गए कार्य के प्रति कृतज्ञता दर्शाना था. गूगल भी कुछ दिनों से यही काम कर रहा था तो आईये देखते है इन ‘डूडल्स’ को, गूगल के इस पहल का नाम है “थैंक यू कोरोनावायरस हेल्पर्स”! (साभार: गूगल)

अप्रैल 6: स्वास्थ कर्मियों एवं शोधकर्ता वैज्ञानिकों के लिए

अप्रैल 7: मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर्स

अप्रैल 8: आपातकालीन सेवा कर्मचारी

अप्रैल 9: सफाईकर्मी एवं सेवाकर्मी(सैनिटेशन)

अप्रैल 10: किसान एवं सब्जी-भाजी वाले

अप्रैल 13: किराना एवं अन्य खाद्य सामग्री वितरण करने वाले

अप्रैल 14: सार्वजनिक परिवहन कर्मचारी

अप्रैल 15: सेवाकर्मी, शिपिंग और डिलीवरी कर्मी

तो मित्रों कैसा लगा आपको ये जानकार, मुझे तो काफी ख़ुशी मिली, अगर आपको भी ऐसा महसूस हुआ तो अपने अन्य दोस्तों, सहकर्मियों और अन्य जो भी लोग इस भागीरथी प्रयास में लगे है उन्हें एक बार धन्यवाद कहें और इस पोस्ट को भी शेयर करें ताकि गूगल की इस कोशिश को सभी जान सकें, एक और बात की अगर आप भी इस मुहीम का हिस्सा बनना चाहते है तो लिख डालिए कुछ, बनाइये कुछ ऐसा की लोगों तक कुछ ठोस जानकारी पहुंचे और वो इसे अमल में लायें एवं साथ में हैशटैग #ComicsAgainstCorona लगाना ना भूलें या कॉमिक्स बाइट पेज को वहां मेंशन कीजिये, आभार – कॉमिक्स बाइट!

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

Leave a Reply

error: Content is protected !!