टिनटिन (Tintin)

Loading

Tintin And Snowy
Tintin And Snowy

टिनटिन (Tintin): टिनटिन एक काल्पनिक किरदार हैं और यह नाम सुनते ही दिमाग में एक छवि सी बन जाती हैं – “एक दुबला-पतला सा गोलाकार चेहरे वाला नौजवान जिसके हलके नारंगी रंग के बाल हवा में थोड़े उड़े हुए से हैं, भूरे बैगी पैंट एवं नीले रंग की पूरी बांह वाली स्वेटर पहने यह लड़का बरबस ही आपके आँखों के सामने से घूम जाएगा। हम सबने कभी ना कभी इस किरदार से मुलाकात जरुर की हैं, चाहे कॉमिक्स के पृष्ठों पर, एनीमेशन के रूप में किसी कार्टून श्रृंखला पर या फिर 70 एम एम के बड़े पर्दे पर। नायक बनने के सिर्फ सिर्फ शारीरिक मांसलता की ही आवश्यकता नहीं हैं, यहाँ नायक के पास होना चाहिए एक तेज दिमाग, चपलता, असाधारण फुर्ती और अच्छा प्रशिक्षण भी। अगर साथ में कुछ दोस्त भी हों तो दुश्मनों के छक्के छुड़ाना और भी आसान हो जाता हैं एवं जब वो साथी ‘स्नोवी’ जैसा कुत्ता हो तो आपका मनोबल भी बढ़ा रहता हैं और कैप्टेन हैडोक जैसे मार्गदर्शक के होने से बड़ी से बड़ी मुसीबत भी आसानी से सुलझ जाती हैं, प्रोफेसर कैलकुलस जैसे विज्ञान के पुजारी एवं थॉमसन एंड थॉमसन जैसे जासूस भी कई जगह अपने नायक को मुसीबतों से बचाते नजर आतें हैं और अपराध अन्वेषण के उसके सफ़र में अपना योगदान देते हैं।

“द एडवेंचर्स ऑफ़ टिनटिन” (The Adventure Of Tintin) बेल्जियम के कलाकार श्री जॉर्जेस रेमी (Georges Rémi) जी द्वारा बनाई गई एक कॉमिक स्ट्रिप्स की एक श्रृंखला है जिसे वो “हेर्गे” (Hergé) के पेन नाम के तहत लिखा करते थें। टिनटिन को पहली बार 10 जनवरी 1929 को बेल्जियम के समाचार पत्र में छापा गया और उसके बाद टिनटिन ने न्यूज़पेपर, कॉमिक्स, एनीमेशन और फिल्मों में भी अपना खूब जलवा बिखेरा। बचपन में कार्टून नेटवर्क में प्रसारित होने वाले ‘द एडवेंचर्स ऑफ़ टिनटिन’ के आज भी कई प्रशंसक मौजूद हैं भारत में।

The Adventure Of Tintin - Cartoon Network
The Adventure Of Tintin – Cartoon Network

टिनटिन पेशे से एक बेल्जियन रिपोर्टर था जिसका काम समाज में पनप रही बुराइयों पर प्रकाश डालना था, लेकिन आगे जाकर पाठकों को टिनटिन कॉमिक्स में उसका टकराव ड्रग माफ़िया और बेहद खतरनाक श्रेणी के अपराधियों के साथ भी देखने को मिला। इन एडवेंचर्स में वो कई देशों की यात्राएं करता और अपने कुत्ते स्नोवी को हमेशा अपने साथ ले जाता। टिनटिन की कई कॉमिक्स में जॉर्जेस रेमी aka हेर्गे भी दिखाई पड़े ठीक वैसे ही जैसे राज कॉमिक्स के किरदार ‘नागराज’ के कॉमिक्स में कॉमिक बुक लीजेंड श्री प्रताप मुल्लिक जी भी किसी फ्रेम में नजर आ जाते थें। “हेर्गे” (Hergé) ने टिनटिन को 1929 वर्ष में शुरू किया और उसे वो वर्ष 1983 तक बनाते रहें एवं इसके बाद वो इस दुनिया को अलविदा कह गए। कॉमिक्स जगत और पूरे विश्व में उनका सबसे प्रसिद्ध किरदार और कहानियाँ – ‘द एडवेंचर ऑफ़ टिनटिन’ ही था जिसे देश-विदेश में भी अलग पहचान मिली।

Tintin and Snowy - The Adventures Of Tintin
Tintin and Snowy – The Adventures Of Tintin

टिनटिन की आज तक कुल 24 कॉमिक्स प्रकाशित हुई हैं जिन्हें 70 से ज्यादा भाषाओँ में अनुवादित किया गया हैं एवं इसकी 30+ करोड़ से ज्यादा अंक आज तक बेचे जा चुके हैं। टिनटिन पर टीवी फिल्म्स, फ़िल्में और एनीमेशन श्रृंखला तक बन चुकी हैं जिसे पाठकों एवं दर्शकों का भरपूर प्रेम और स्नेह मिला हैं। ये इतने पॉपुलर हैं की कितने ही प्रकाशकों ने इसका अलग-अलग संस्करण बाजार में निकला हैं और भारत में इसे बंगला एवं हिंदी भाषा में अनुवादित किया गया हैं। कोलकाता की ‘आनंदमेला’ नामक मैगज़ीन ने सबसे पहले अधकारिक तौर पर इसे अनुवादित किया और कई वर्षों के बाद में इसके हिंदी प्रारूप भी बाजारों में दिखने लगे।

Tintin Comics - Hindi Editions
Tintin Comics – Hindi Editions

टिनटिन की कॉमिक्स की प्रासंगिकता आज भी बनी हुई हैं और विश्व में उसकी अपनी एक फैन फॉलोइंग हैं। नीचे पेश हैं टिनटिन से जुड़े कुछ तथ्य और जानकारियाँ –

पब्लिकेशन: कैस्टरमैन (बेल्जियम), हार्पर कॉलिंस, मैगनेट, एगमोंट एवं अन्य।

नाम: टिनटिन

कार्यक्षेत्र: संपूर्ण विश्व

कर्म: रिपोर्टर और क्राइम फाइटर

साथी: स्नोवी(कुत्ता), कैप्टेन हैडोक, प्रोफेसर कैलकुलस और थॉमसन एंड थॉमसन व कुछ अन्य भी।

ताकत –

टिनटिन के पास कोई खास शक्तियाँ नहीं थीं, वह भी एक आम इंसान ही हैं। हाँ उसे ड्राइविंग काफी अच्छी आती हैं और लड़ाई में भी वो एक ‘स्किल्ड फाइटर’ की तरह लड़ता हैं। पाठकों में उसका पंच बहोत प्रसिद्ध हैं जिससे अच्छे-अच्छे अपराधी भी जमीन चाटने लगते हैं। टिनटिन बेहद फुर्तीला हैं और अपने आस-पास में मौजूद ‘मकेनिकल’ चीज़ों का वो काफी इस्तेमाल करता हैं। टिनटिन का दिमाग भी बहुत तेज हैं और मौक़े को भांपते हुए वो तुरंत ही समस्याओं के निवारण में व्यस्त हो जाता हैं। वो एक बढ़िया खिलाड़ी भी हैं और अपनी यात्राओं में उसे पाठक तेज़ी से दौड़ते, कूदते एवं तैरते देख चुके हैं। हेर्गे के मुताबिक टिनटिन बेहद ‘दिलेर’ व्यक्तित्व का मालिक हैं जैसे एक ‘आलराउंडर’।

तथ्य –

  • टिनटिन की पहली कॉमिक बुक का नाम – ‘टिनटिन इन द लैंड ऑफ सोवियत’ हैं जिसे वर्ष 1930 में प्रकाशित किया गया था।
  • टिनटिन ‘चाँद’ पर जा चुका है और इसका प्रमाण टिनटिन की कॉमिक्स – “एक्सप्लोरर्स ऑफ़ द मून” में मिलता हैं।
  • टिनटिन के मित्र और सहायक कप्तान हैडोक को शराब पीने की बुरी लत हैं, वो कॉमिक्स में अक्सर ‘विस्की’ पीते नजर आते हैं।
  • थॉमसन एंड थॉमसन हैं तो जासूस पर वो कभी कोई केस हल नहीं कर पाते हैं, हाँ उन्होंने टिनटिन की मदद जरुर की है कई बार। कॉमिक्स में हास्य का बेहतरीन पुट इनकी हरकतों से ही आता हैं।
  • भारत में ‘द एडवेंचर्स ऑफ़ टिनटिन’ को बांग्ला एवं हिंदी में भी प्रकाशित किया जा चुका हैं।
  • टिनटिन पर कुछ कंट्रोवर्सी भी हो चुकी हैं और उसके कॉमिक्स पर पप्रोपेगंडा फैलाने के इल्जाम भी लग चुके हैं।
  • हेर्गे ने टिनटिन कॉमिक्स तो जरुर बनाई और उसे कई देशों में ले गए लेकिन उन्होंने खुद बहुत कम देशों की यात्राएँ की।
Kaarname Kamaal ke – The Adventures of TINTIN in Hindi

जॉर्जेस रेमी की अंतिम इच्छा यह थीं की उनके किरदार टिनटिन पर कोई और कार्य ना करें इसलिए उनकी मृत्यु के उपरांत टिनटिन की कॉमिक्स आना बंद हो गई और अंतिम कॉमिक्स वर्ष 1986 में प्रकाशित हुई। टिनटिन का किरदार आज भी बेहद लोकप्रिय हैं और सुना हैं उसके अगले एनीमेशन फिल्म काकार्य भी काफी तेज़ी से आगे बढ़ रहा हैं। अधिक जानकारी के पाठक टिनटिन के आधिकारिक वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते हैं, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

टिनटिन (Tintin)

Tintin Paperback Boxed Set 23 Titles Paperback – Amazon

Tintin Paperback Boxed Set 23 Titles Paperback - Amazon

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

error: Content is protected !!