भारत-चाइना के मतभेद और अपनी सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए कॉमिक्स जगत के प्रयास

नमस्कार है सभी मित्रों का, कल ही हमारे समाचार वाले खंड में हमने ये दिखाया की कैसे कॉमिक्स इंडस्ट्री भी अपने सैनिक और सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए कार्यरत है और आज भी कॉमिक्स जगत के कुछ बड़े नाम अपनी सेना का मनोबल बढ़ाते नज़र आये. लेकिन देश में एक विरोधाभास भी है पता नहीं क्यूँ? मैं सबसे यही याचना करूँगा की अभी अपने देश, अपनी सेना और अपने सरकार का समर्थन कीजिये, इसका बहोत प्रभाव पड़ता है, नकराक्मकता को बढ़ावा मत दीजिये, अभी वक़्त नहीं है सवाल जवाब का, अभी वक़्त है अपनी सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाने का. क्या आपको पता है भारतीय वीरों ने कैसे अपने प्राण की परवाह ना करते हुए दसियों चीनी सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया, मीडिया के अनुसार सेना की घातक टुकड़ी ने ‘गलवान’ घाटी में कोहराम मचा दिया और कई चीनी फ़ौज के अधिकारीयों को अपने कब्ज़े में भी ले लिया. यकीनन भारतीय सेना विश्व की सबसे बड़ी सेना ना सही पर उनके जस्बे के आगे विशाल से विशाल सेना भी पानी भरती नज़र आती है.

कॉमिक्स बाइट न्यूज़ के लिए यहाँ क्लिक करें – कॉमिक्स बाइट न्यूज़ खंड 5

Indian Army 
Artwork: Dheeraj Verma
भारतीय सेना के वीर जवान
आर्टवर्क: श्री धीरज वर्मा

एक एक सैनिक ने दस दस चीनियों का काम तमाम किया, गलवान घाटी ‘हर हर महादेव’ और ‘सत श्री अकाल’ के नारों से गूँज उठा, चीनी फ़ौज की टुकड़ी में ऐसा हाहाकार मचा की वो इसे सालों साल नहीं भूल पायेगा. सरकार ने फ़ौज को खुली छूट दे रखी है, कृपया ऐसे माहौल में सवाल जवाब कर अपनी सेना और अपने देश को गौरव को ठेस मत पहुंचायें. एक जिम्मेदार नागरिक बने और देश और सैनिकों का उत्साह वर्धन करें. आप चाहे तो भारत के वीर नामक वेब पोर्टल से ‘शहीदों’ के परिवारों को कुछ योगदान दें सकते है, उसका विवरण पोस्ट के तल भाग में आपको मिल जायेगा.

राज कॉमिक्स के क्रिएटिव टीम के विश्लेषक, कार्टूनिस्ट, कहानीकार, चित्रकार, इंकर, सुलेखक और हमारे बचपन के नायक – ‘सुपर कमांडो ध्रुव‘ के जन्मदाता श्री ‘अनुपम सिन्हा’ जी ने आज अपने फेसबुक पोस्ट के जरिये हमारे जांबाज योद्धाओं का हौसला बढ़ाया और ‘शहीदों’ को श्रद्धांजली भी अर्पित की. इससे पहले कल ‘भेड़िया’ के जनक श्री ‘धीरज वर्मा’ जी भी हमारे देश के वीर सैनिकों की हौसलाअफजाई करते नज़र आये और अपने बेमिसाल आर्टवर्क से उन्होंने चीनियों को कस कर तमाचा जड़ा, जो कसर बच गई थीं उसे आज अनुपम जी के ‘इलस्ट्रेशन’ ने पूरा कर दिया. भारतीय कॉमिक्स जगत से ऐसा उत्साह आना जरुर हमारे सैनिकों का मनोबल बढ़ाएगा और उन्हें एक नई उर्जा देगा आखिरकार हमारे असली नायक तो वही हैं. नीचे पेश है अनुपम सिन्हा जी का बेमिसाल चित्रांकन.

जय हिंद, जय हिंद की सेना
आर्टवर्क: अनुपम सिन्हा जी
जय हिंद, जय हिंद की सेना
आर्टवर्क: अनुपम सिन्हा जी

इस पहल में कॉमिक्स इंडिया भी अपना योगदान देते नज़र आई और हम सबका दुलारा, साठे सर का प्यारा अंगारा भी दुश्मनों के दांत खट्टे करने की योजना बनाता नज़र आया और अपने सैनिक भाईयों को हौसला बढ़ाते हुए ये भी कहता है की – ‘चीन को उसके विश्वासघात का मज़ा चखाना ही होगा’ एवं ‘अंगारा द्वीप’ का एक एक सिपाही अपनी जान दांव पर लगा देगा और मातृभूमि आंच नहीं आने देगा – जय हिंद!

जय हिंद
तुलसी कॉमिक्स/कॉमिक्स इंडिया
अंगारा
जय हिंद
तुलसी कॉमिक्स-कॉमिक्स इंडिया
अंगारा

इसके अलावा अमर चित्र कथा स्टूडियो ने भी ‘सेना की जवानों’ की एक लड़ते हुई तस्वीर(आर्टवर्क) पेश की है जहाँ वो देश के दुश्मनों का कड़ा मुकाबला कर रहे है. अमर चित्र कथा पहले भी ‘परमवीर चक्र’ के नाम से कॉमिक्स सीरीज़ प्रकाशित कर देश के सैनकों को सम्मान दे चुकी है और उनकी गौरव गाथा का वर्णन भी कर चुकी है. उन्होंने अपने पेज पर लिखा है – “कुछ दिनों पहले लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच जो संघर्ष हुआ था, उसने हमारे कुछ भारतीय भाइयों को अपने जीवन का बलिदान करना पड़ा जो हमारे देश के लिए लड़ रहे थे। हमारे दिल इन बहादुर आत्माओं के परिवारों के लिए अश्रु से भर जाते हैं, भारत के इन वीर जवानों को कोटि कोटि नमन एवं श्रद्धांजलि.

परमवीर चक्र
अमर चित्र कथा
परमवीर चक्र
अमर चित्र कथा

भारत के वीर‘ वेब पोर्टल का लिंक नीचे दिया गया है, वहां जाकर आप कोई सहयता करनी है तो कर सकते है, आभार – जय हिंद, जय भारत!!

भारत के वीर

सेना की गौरव गाथाएँ

India’s Bravehearts

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

Leave a Reply

error: Content is protected !!