बुल्सआई प्रेस – ज़ालिम मांझा – द रेड लैंटर्न हाउस (Bullseye Press: Zalim Manjha – The Red Lantern House – Pre-Order)

नमस्कार मित्रों, बुल्सआई प्रेस में ज़ालिम मांझा का दूसरा पड़ाव बहुत जल्द पाठकों के हाँथ में होगा और इस अंक की खास बात यह हैं की इस बार कॉमिक्स अड्डा भी एक प्रकाशक के तौर पर इस अंक के साथ एक सह-प्रकाशक की हैसियत से कॉमिक्स जगत में अपना पदार्पण करेंगे। इससे पहले भी वो ‘यज्ञा 3’ का स्पेशल वैरिएंट कवर अपने नाम पर प्रकाशित कर चुके हैं। कॉमिक्स अड्डा को उनके आगामी कार्यों के लिए हार्दिक शुभकामनाएं और अभिनंदन, लेकिन आप यह ना भूलें की ‘दिखने में अजीब और कार्य बड़े संगीन’ आशिक मिजाज ज़ालिम मांझा एक बार फिर आ रहा हैं धमाल मचाने, ‘क्यूँ क्या सिर्फ एम्मिवे बनटाई ही मचा सकता हैं’, अपना मांझा भी कुछ कम नहीं!!

Zalim Manjha - The Red Lantern House
Zalim Manjha – The Red Lantern House

ज़ालिम मांझा – द रेड लैंटर्न हाउस को हिंदी एवं अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित किया जाएगा एवं इसकी मूल्य दर 249/- से लेकर 299/- के बीच में रखें गए हैं, अधिक जानकारी के लिए पाठक उनके वेबसाइट ‘बुल्सआई प्रेस’ पर भ्रमण कर सकते है और इसे ‘कॉमिक्स अड्डा’ से भी बुक किया जा सकता हैं। 500 मूल्य से ज्यादा की खरीद पर फ्री डिलीवरी हैं एवं सभी अंकों पर 10 प्रतिशत की छूट भी दी जा रही हैं। एकल अंकों के साथ 5 कॉमिक्स का एक कॉम्बों पैक भी अलग से उपलब्ध हैं जहाँ पाठक एक ब्लैंक यानि की सादे आवरण की कॉमिक्स भी अपने संग्रह में जोड़ पाएंगे।

पेश हैं आप पाठकों के लिए ज़ालिम मांझा के सभी कवर्स –

काॅमिक्स को पूर्ण करने में योगदान दिया हैं श्री दीप्जोय सुब्बा, रीनन लीनो जी, कैओ पेगाडो जी, श्री सुदीप मेनन और स्वयं श्री रविराज आहूजा ने और इसे 27 मार्च से प्री-आर्डर पर सभी पुस्तक विक्रेताओं के पास उपलब्ध कराया जा रहा हैं।

पाठकों की सहूलियत के लिए कुछ कॉमिक्स के अंदरूनी पृष्ठ भी साझा किए जा रहें हैं –

माईकल मांझा का पहला अंक बड़ा ही बेहतरीन था जिस कारण बुल्सआई के पाठकों बड़ी उत्सुकता हैं की अब इसकी कहानी में आगे क्या होने वाला हैं? मांझा के लिए चंद दिनों का इंतज़ार ही सही, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Avengers Infinity War Analog Multi-Colour Dial Boy’s Watch

Avengers Infinity War Analog Multi-Colour Dial Boy's Watch

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

error: Content is protected !!