द फैंटम (The Phantom) – रीगल पब्लिशर्स

रीगल पब्लिशर्स साउथ की एक जानी मानी प्रकाशक है और कोट्टायम (केरला) से प्रकाशाधीन है. उन्होंने टार्ज़न, मैनड्रेक और फैंटम पर नॉवेल और कॉमिक्स पहले भी मलयालम भाषा में प्रकाशित की है और अब वो प्रतुस्त है ‘द फैंटम’ का अंग्रेजी संस्करण लेकर. रीगल पब्लिशर्स के अनुसार फैंटम एक ‘एवरग्रीन’ किरदार है और दूसरें पाठकों को भी फैंटम को जानने एवं पढ़ने का मौका मिलना चाहियें.

Regal Publishers - The Phantom, Tarzan, Mandrake
रीगल पब्लिशर्स

द फैंटम को भारत में कई प्रकाशकों ने छापा है, इंद्रजाल कॉमिक्स से लेकर डायमंड कॉमिक्स तक – ये फ़ेहरिस्त काफी लंबी है. फैंटम अखबारों में ‘कॉमिक्स स्ट्रिप’ के रूप में छपता रहा है और कई प्रकाशकों ने इसके प्रकाशाधीन अधिकार खरीद कर अपने प्रकाशन के अंतर्गत समय समय पर इसे प्रकाशित भी किया है. अगर आप इसके विकिपीडिया के पृष्ठ को देंखे –

भारत में, ‘द फैंटम’ पहली बार 1950 के दशक में द इलस्ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया में दिखाई दिया। 1964 में, भारतीय प्रकाशक इंद्रजाल कॉमिक्स ने अंग्रेजी में फैंटम कॉमिक बुक प्रकाशित करना शुरू किया, बाद में इंद्रजाल के कई भारतीय भाषाओं में भी ‘द फैंटम’ प्रकाशित हुई। इन वर्षों में, अन्य भारतीय प्रकाशकों ने भी फैंटम की कॉमिक्स को प्रमुखता दी जिनमें सबसे प्रमुख रही डायमंड कॉमिक्स, यूरो बुक्स (पूर्व में इग्मेंट इमेजिनेशन इंडिया) और रानी कॉमिक्स। तेलुगु क्षेत्रीय दैनिक ‘ईनाडु’ ने भी अपने संडे सप्लीमेंट्स के शुरुआती दिनों के दौरान फैंटम कॉमिक्स के अनुवादित संस्करणों को प्रकाशित किया, ‘प्रेत’ (द घोस्ट हु वाक्स) स्थानीय समाचार पत्रों में बंगाली और हिंदी भाषा में भी प्रकाशित होता है। हिंदी में इसे इंद्रजाल कॉमिक्स ने चरित्र नाम वनभैरव के रूप में प्रकाशित किया है, उन्होंने इसे बंगाली में चरित्र नाम ‘बेताल’ के रूप में भी प्रकाशित किया है. अग्रणी बंगाली प्रकाशन गृह, आनंदबाजार पत्रिका ने बंगाली में इसे वर्ण नाम से प्रकाशित किया था, वर्ण का मतलब जंगल का देवता से है, उन्होंने बाद में अपनी पत्रिका ‘देश’ और बच्चों की पत्रिका आनंदमाला में इन स्ट्रिप्स प्रकाशित करना जारी रखा और साथ ही उनके बंगाली अखबार, आनंदबाजार पत्रिका में भी इसका प्रकाशन लगातार जारी रहा.”

साभार : विकिपीडिया

ज्यादा जानने के लिए पढ़े – अख़बार और कॉमिक्स की पट्टिकायें (कॉमिक्स स्ट्रिप) – भाग 1

रीगल पब्लिशर्स (Regal Publishers)

“द फैंटम” के दो अंक प्रकाशित होने वाले है (No. 1) और (No. 2) और इनमें कुल 4 कहानियां प्रकाशित होने वाली है. ये अंक 1 अगस्त 2020 को ये उपलब्ध होंगे एवं इनका मूल्य प्रति अंक 120/- रुपये रखा गया है. रीगल पब्लिशर्स के इस प्रयास को सफल बनाईये और उनके ‘व्हाट्सएप्प’ नंबर पर संपर्क करके अपने अंक को आज ही बुक कराईये! नीचे दिया गया है रीगल पब्लिशर्स के फेसबुक पेज का डिटेल्स –

रीगल पब्लिशर्स फेसबुक पेज

The Ghost Who Walks - The Phantom - Regal Publishers

अंक 1 और अंक 2 के कवर आर्टिस्ट है ‘विन्सेंट मोसेस राजा’ और इसमें ‘ग्राहम नोलन – आर्टिस्ट’ की क्लासिक संडे की कहानियों को बताया जाएगा. अगर आप भी ‘फैंटम’ और ली ‘फ़ाक’ के कहानियों एवं कॉमिक्स के शौक़ीन है तो ये मौका आपके लिए बिलकुल उपयुक्त है, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

“द फैंटम” के मिनी सीरीज़ आप नीचे दिये गए लिंक से खरीद सकते है.

The Phantom - Mini's
Amzaon

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

One thought on “द फैंटम (The Phantom) – रीगल पब्लिशर्स

Leave a Reply

error: Content is protected !!