मिस्टिक

चंद्रकांता के पुराने धारावाहिक में आपने ऐयारों को रूप बदलते देखा ही होगा, राज कॉमिक्स के भी कई इच्छाधारी सांप अपने रंग, रूप, आकर को मन माफिक बदल सकते है, ऐसा ही एक किरदार मार्वल कॉमिक्स में भी है लेकिन न वो नाग है ना ऐयार, वो तो म्युटेशन के कारण हुए बदलाव का एक नतीजा थी, किसी के भी रंग, रूप, आवाज़, शक्तियों को अपनाकर, उनका एक प्रतिरूप बन जाती थी और उसका नाम है – “मिस्टिक”.

साभार: मार्वल

मिस्टिक मार्वल के एक्स-मैन यूनिवर्स से जुडी हुयी है, “एक्स-मैन” वो कहलाते है जिन्हें पैदा होते ही अलौकिक शक्तियां प्राप्त हो जाती है और उनके बड़े होने तक उन शक्तियों का बहाव बढ़ता ही रहता है, आप इन्हें “म्युटेंट” भी कहते है – मानवता के एक उप-प्रजाति जिन्हें अलौकिक शक्तियां मिली है. बचपन में वो जब प्रोफेसर एक्स अका चार्ल्स ज़ेवियर से मिलती है तब उससे चार्ल्स एक नया नाम देता है ‘रैवेन’. रैवेन एक्स-मैन के टीम की कई मिशन पर काफी सहायता भी करती है और अंततः उसे एक दिन मैगनिटो बरगलाकर अपने साथ भगा ले जाता है और उसकी चालों में उलझ कर ‘रैवेन’ कब ‘मिस्टिक’ बन जाती है उसे पता भी नहीं चलता, मिस्टिक जाहिर तौर पर बहोत ताकतवर नहीं है, उसके आँखों का रंग पीला है और शरीर पर नीला आवरण है, एक तरह से उसकी त्वचा जो उसे मन चाहा रंगरूप धारण करने में सुविधा प्रदान करता है, अगर देखा जाये तो उसकी परम शक्ति शेपशिफ्टिंग ही है यानि मन मुताबिक आकार धारण कर लेना, उसको खास बात ये बनाती है की जब वो कोई भी स्वरुप धर लेती है तो उसमे उस व्यक्ति की ताकत, गुण और जो भी अन्य शक्तियां है उसमे समाहित हो जाती है, जो किसी भी अन्य एक्स-मैन से ज्यदा खतरनाक है. (इमेज क्रेडिट्स: मार्वल)

मार्वल कॉमिक्स में मिस्टिक को एक ठंडी, निर्दयी और दुष्ट महिला दिखाया गया है जो एक पल को कुछ भी सोचे समझे बिना किसी की भी हत्या कर देती थी, मिस्टिक जब भी किसी और के रूप या भेष धरती तो वह बहुत सुंदर, मोहक और आक्रामक प्रतीत होती है. फॉक्स स्टूडियोज ने भारत में एक्स-मैन फिल्म से मिस्टिक को भारतीय दर्शकों से मिलवाया, हालाँकि कॉमिक्स तो बहोत सालों से आयत होती रही है पर चर्चा का विषय वो फिल्म आने के बाद ही बनी. मिस्टिक का फिल्म में किरदार निभाया “रेबेका रोमिजं“(मेरी पसंदीदा) ने और उसको बाद में जारी रखा “जेनिफर लॉरेंस” ने. अब शायद किरदार के अधिकार फिर से मार्वल स्टूडियोज के वापस आ गए तो देखते है भविष्य में और कौन इस किरदार को करता है.

मिस्टिक एक असाधारण शक्ति की स्वामिनी थी, उसे अपना नीला रंग पसंद नहीं था इसीलिए अपने असल रूप में कम और अन्य रूपों में ज्यदा नज़र आती थी, ‘शेपशिफ्टिंग’ छोड़कर उसके अन्य शक्तियों में उल्लेखनीय है –

  • हीलिंग फैक्टर – वॉल्वरिन या डेडपूल जैसे तो नहीं पर आम इंसान से काफी बेहतर.
  • अलौकिक चपलता – मिस्टिक बहोत तेज़ है, उसकी फुर्ती बेमिसाल है. इसी चपलता के कारण वो खुद किसी भी बंधन से बड़े आसनी से आज़ाद कर सकती है.
  • कलाबाज़ – वो बेहद सटीक कलाबाज़ भी है, चाहे ऊँची मीनारे हो या खड़ी दीवार, मिस्टिक के लिए वो मात्र एक आम रास्ता ही है. वो अपने हाँथ पैरों से कहीं भी चढ़ उतर सकती है.
  • विशेषज्ञ घुसपैठिया – वो किसी का भी रूप धर के लोगों को धोखा दे सकती है, उसने कई जगहों पर घुसपैठ की है जैसे एक्स-मैन का घर, वाइट हाउस और मिलिट्री बेस कैम्पस.
  • आयुर्वृद्धि – लोगो के रूप धारण करने की वजह से उसकी उम्र बहोत धीरे धीरे बढती है
साभार: मार्वल

मिस्टिक की पहली उपस्थिति मिस. मार्वल कॉमिक्स सन 1978 को अंक #16 में हुयी और उसके जनक थे ‘क्रिस क्लारेमोंट’ एवं ‘डेव कोच्क्रुम’. उसकी उम्र का कोई हिसाब नहीं है, क्योंकि उसका स्वरुप बदलता ही रहता है. एक्स-मैन यूनिवर्स चाहे वो कॉमिक्स हो, फिल्म हो या एनीमेशन, मिस्टिक के उपस्थिति के बिना इनका आधार नहीं है, आभार – कॉमिक्स बाइट!

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

Leave a Reply

error: Content is protected !!