चाचा चौधरी का रिकॉर्ड – डायमंड कॉमिक्स रि-प्रिंट्स (Chacha Chaudhary Ka Record – Diamond Comics Reprints)

नमस्कार दोस्तों, आजकल आपको नब्बे के दशक का स्वाद जरुर मिल रहा होगा क्योंकि सभी कॉमिक्स प्रकाशक अब पुराने कॉमिकों का पुनःमुद्रण कर रहें हैं। डायमंड कॉमिक्स भी लम्बू मोटू की ड्रैकुला श्रृंखला उमाकार्ट के सौजन्य से उपलब्ध करवा चुकी हैं जिसके कुछ अंक अभी आगामी मुद्रण का इंतज़ार कर रहें हैं। इसी बीच राका के दो कॉमिक्स भी पाठकों को उपलब्ध हुए और अब एक बार फिर से भारत के सबसे प्रसिद्ध कॉमिक बुक किरदारों में से एक श्रीमान ‘चाचा चौधरी’ और जुपिटर ग्रहवासी ‘साबू’ अपने कारनामों से आपको दंग करने दुबारा प्रकट हो रहें है।

डायमंड कॉमिक्स खरीदने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए – Dimoand Comics

Diamond Comics - Banner
जीवन में भर लो रंग डायमंड कॉमिक्स के संग

डायमंड कॉमिक्स ने चाचा चौधरी के कुछ पुराने कॉमिकों का पुन: मुद्रण किया है जिनमें 4 कॉमिक्स देखी जा सकती है और यहाँ जो गौर करने वाली बात है वो आपको शायद पुराने दिनों की याद दिला सकती हैं। जी मैं बात कर रहा हूँ डायमंड कॉमिक्स के पुराने ‘लोगो‘ की जो एक बार फिर से डायमंड कॉमिक्स के आवरण पर विधमान है और उसकी पहचान भी। कॉमिक्स का मूल्य 100/- रुपये है और आप इसे डायमंड कॉमिक्स के वेबसाइट से सीधे प्राप्त कर सकते हैं। भारत के किसी भी कोने में शिपिंग की व्यवस्था भी उपलब्ध है तो अब प्रतीक्षा ना करें और चाचा चौधरी के इन अंको को अपने संग्रह में शामिल अवश्य करें।

चाचा चौधरी के पुनः मुद्रित कॉमिकों की सूची –

  • चाचा चौधरी का रिकॉर्ड
  • चाचा चौधरी और साउथ ब्लाक पर हमला
  • चाचा चौधरी और युधिष्ठिर का मुकुट
  • चाचा चौधरी और साबू का अपहरण

डायमंड कॉमिक्स के एम. डी. श्री गुलशन राय जी ने आज इस बात की घोषणा की और पाठक भी इसके बाद काफी खुश नज़र आए की उन्हें कार्टूनिस्ट प्राण द्वारा कृत चाचा चौधरी एवं उनके मित्र साबू के रोमाचक किस्से दोबारा से पढ़ने को मिलेंगे। मुझे अच्छे से याद है जब मैंने आज से करीब दो दशक पहले ‘चाचा चौधरी का रिकॉर्ड‘ नामक कॉमिक्स खरीदी थीं तो मुझे दो टैटू स्टीकर मुफ्त में मिलें थे, क्या आपकी भी कुछ ऐसी यादें हैं तो हमसे जरुर साझा करें, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Combo Set of 3 Diamond Comics

Combo Set of 3 Diamond Comics

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

Leave a Reply

error: Content is protected !!