क्या है कॉमिक्स इमेजिनेशन एंड क्रिएटिविटी : सिद्धांत और अभ्यास द्वारा दिमागी कसरत

शम्भू नाथ महतो

शम्भू नाथ महतो कॉमिक्स चित्रकार, लेखक व सम्पादक हैं. वे कॉमिक्स थ्योरी के क्रिएटिव हेड व संपादक हैं. इसके अलावा एम् आर पी बुक शॉप के को–फाउंडर भी हैं. इन्होनें ‘सावित्री – मृत्यु ज्ञानम’ नाम से एक पुस्तक भी लिखी है. कॉमिक्स थ्योरी से इनके सम्पादन में घोस्ट्स ऑफ़ इंडिया, चोरी का आरोप और भारतीय कॉमिक्स व पोपुलर प्रिंट के रचनाकारों पर ‘लीजेंड कैलेंडर २०१९’ भी रिलीज़ हुआ. ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस के लिए 3D मानचित्र, आन कॉमिक्स, TBS प्लेनेट कॉमिक्स, सूरज पॉकेट बुक्स, नन्हे सम्राट के लिए कॉमिक्स व अनेक कॉमिक्स कवर्स एवं चित्र बनाए हैं. हाल ही में इनके द्वारा चित्रित आन कॉमिक्स संदीप सांखला प्रकाशित हुई है.

Comics Imagination and Creativity (कॉमिक्स इमेजिनेशन एंड क्रिएटिविटी)

अक्सर आपने इमेजिनेशन और क्रिएटिविटी यानि कल्पनाशीलता और रचनात्मकता का नाम सुना होगा. कॉमिक्स कि दुनिया में ये दो शब्द बहुत ही कठिन और दूभर माने जाते हैं. हर चित्र व चित्रकार इन दो शब्दों से जाने अनजाने होकर गुजरता है. चित्रकार जूझता है कि उसके मस्तिष्क में कल्पना के बीज प्रस्फुटित हों और वह कुछ ऐसा सोचे कि जब वह कागज पर उभर कर बना दे तो उसकी रचनात्मकता जगजाहिर हो! पर यहीं बहुत से लोग अटक जाते हैं! कुछ लोग कल्पना ही नहीं कर पाते, कुछ दिमाग में कल्पना करते हैं तो उसे पूर्ण रूप से नहीं सोच पाते, और कुछ जो सोच पाते हैं वे उसे कागज पर उतारने में दिक्कत महसूस करते हैं!

शम्भू नाथ महतो जी आन कॉमिक्स पर चित्रकारी करते हुए

पर फ़िक्र न कीजिये आपको हम अवगत कराएँगे कुछ ऐसी ट्रिक्स और तकनीक से जो आपके दिमाग में मौजूद इमेजिनेशन और क्रिएटिविटी को कसरत कराएगी जिससे आपके अन्दर कि यह क्षमता और ज्यादा विकसित होगी! यानि कि खाद-पानी सीधा दिमाग के लिए! तो समय व्यर्थ न करते हुए हम शुरू करते हैं!

सोचिये आपको एक कॉमिक्स में चित्र बनाना है और उसे आपने कल्पना करना है! तो अब दिमाग में एक पृथ्वी बनाइये! है न आसान ? अब उस पृथ्वी की छवि को असली में एक कागज पर बनाइये! ये तो बिलकुल आसान है! जी अब उस पृथ्वी के पृष्ठभाग को सोचिये और कागज पर बनाइये! क्या कहा? ये भी गोल ही बनेगा? ये बहुत आसान है? एकदम सही! कुछ चीजे सोचना और उसे कागज पर बनाना बहुत आसान होती है क्यूंकि उनका खाका इस प्रकार का होता है! चलिए अब हम अपने दिमाग को और कसरत करवाने के लिए एक अलग चुनौती देंगे! इस बार अपने दिमाग में एक मोबाइल चार्जर सोचिये! सोच लिया न! अब इस चार्जर को दिमाग में लेफ्ट से राईट कि ओर घुमाइए ….नहीं घूम रहा? अटक गए? ओह्हो! यही है आपकी कल्पना कि वो नस जिसे मजबूत बनाना है! आप अब इस पर ध्यान से सोचिये और फोकस कीजिये चार्जर को दिमाग में हल्का सा हिलाइए और फिर धीरे-धीरे उसे लेफ्ट से राईट में हिलाइए. चला गया न! अब इसी तरह इसे विभिन्न दिशाओं में घुमाइए! और घुमाते रहिये!”

तो देखा आपने इन प्रैक्टिस से आप अपने दिमाग कि कल्पनाशीलता को सीधे-सीधे कसरत करवा रहे हैं !अगर आपको ये रोचक लगा और आप अपनी कल्पनाशीलता और रचनात्मकता को और तेज करना चाहते हैं तो इस प्रैक्टिस और अन्य दूसरी प्रैक्टिस को विस्तार से आप चित्रकार व लेखक शम्भू नाथ महतो द्वारा चलाये जा रहे ‘क्रेश इन्टू क्रेश कोर्स ऑफ़ कॉमिक्स ड्राइंग’ कोर्स के अध्याय 3 के पार्ट 1 और पार्ट २ में देख व समझ सकते हैं. जिसका विडियो लिंक हम आपको यहाँ दे रहे हैं.

कॉमिक्स थ्योरी लाइव चैनल लिंक: कॉमिक्स थ्योरी लाइव

अध्याय 3 : इमेजिनेशन एंड क्रिएटिविटी ऑफ़ कॉमिक्स आर्टिस्ट

पार्ट 1 : “थ्योरी

पार्ट 2 : प्रैक्टिस व माइंड हैकिंग (रात्रि समय 8 बजे से उपलब्ध)

(भविष्य में नए अध्यायों को देखने के लिए चैनल सब्सक्राइब करना न भूलें !)

आप सीधे शम्भू नाथ महतो से फेसबुक पर जुड़ने के लिए संपर्क कर सकते हैं और उनके इस ऑनलाइन कोर्स में फ्री रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं.(शम्भू नाथ महतो)

हम आगे भी इस प्रकार के चित्रकला सीखाने सम्बन्धी लेख आपके लिए लाते रहेंगे! आपको इस लेख व विडियो को पढ़कर व प्रैक्टिस करके कैसा लगा जरुर बताएं?

सौजन्य : Shambhu Nath Mahto – ‘Crash into Crash Course of Comics  Drawing’. (COMIX THEORY PUBLICATION, 2020 – In Publication).

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

2 thoughts on “क्या है कॉमिक्स इमेजिनेशन एंड क्रिएटिविटी : सिद्धांत और अभ्यास द्वारा दिमागी कसरत

Leave a Reply

error: Content is protected !!