कॉमिक्स बाइट फैक्ट्स: भूतमहल मनोज चित्र कथा (Bhootmahal – Manoj Chitra Katha)

नमस्कार मित्रों, आज का फैक्ट है ‘मनोज चित्र कथा’ (Manoj Chitra Katha) से, क्या आपको पता है की “राम-रहीम” की पहली कॉमिक्स का नाम क्या है? और इसके कितने आवरण बाज़ारों में उपलब्ध थे और उन्हें किन कॉमिक बुक आर्टिस्टों ने बनाया था, आज बात होगी कॉमिक्स के ऐसे ही कुछ अनछुए पहलुओं पर.

फैक्ट

“डबल सीक्रेट एजेंट 001/2 राम-रहीम की पहली कॉमिक्स का नाम था ‘भूतमहल‘. वैसे तो राम-रहीम पेशे से जासूस थे जैसा की उनके नाम के आगे लगी पदवी ‘डबल सीक्रेट एजेंट’ से भी मालूम जान पड़ता है पर अपने पहले ही कारनामें में उन्हें सामना करना पड़ा एक पागल डॉक्टर का जिसका नाम था ‘डॉक्टर शैतान‘. उसने अपने प्रयोग द्वारा बनाया एक ऐसा हैवान जिसने राम-रहीम के शहर में तबाही मचा दी. इस कॉमिक्स में राम-रहीम का टकराव भी इसी हैवान से दिखाया गया है.

Comics Byte Facts - Manoj Comics - Ram-Rahim-Bhootmahal
कॉमिक्स बाइट फैक्ट्स

कॉमिक्स खरीदने हेतु इस लिंक पर क्लिक कीजिए – हिंदी कॉमिक्स

कॉमिक बुक आर्टिस्ट

इस कॉमिक्स को कई बार पुनर्मुद्रित किया गया और इस कॉमिक्स के आवरण पर कई कॉमिक बुक आर्टिस्टों ने काम भी किया. अगर आपको लगता है भारत में ‘वैरिएंट कवर‘ का संस्कृति अभी-अभी आई है तो इस बात को अवश्य जान लें की ये कार्य मनोज कॉमिक्स कई दशकों पहले से करती आ रही है. लेकिन यहाँ पर एक बड़ा अंतर ये है की आदर्श तौर पर ‘वैरिएंट कवर’ एक ही तिथि पर प्रकाशित किए गए कॉमिक्स के अलग अलग आवरणों को कहते है वहीँ ‘मनोज चित्र कथा’ या ‘मनोज कॉमिक्स’ ने इसे अलग अलग संस्करणों और पुनःमुद्रण में जाने वाली कॉमिकों के लिए इस्तेमाल किया था.

भूतमहल‘ के आवरण पर उस दौर के महान कॉमिक बुक आर्टिस्टों ने चित्रांकन किया था –

भूतमहल – पहला संस्करण – सी एम विटंकर जी

भूतमहल (मनोज चित्रकथा डाइजेस्ट) – जगदीश पंकज जी

भूतमहल (रीप्रिंट) – विजय कदम जी (कदम स्टूडियोज़)

नीचे पेश है ‘भूतमहल’ कॉमिक्स का पहला आवरण और इसका मूल्य था 3 रुपये, इसे बनाया था सी एम विटंकर जी ने और इसके आर्टवर्क का आंकलन मैं तो नहीं कर सकता. इतना बेमिसाल और जीवंत चित्रांकन कॉमिक्स जगत में बहुत कम ही देखने को मिलता है.

आर्टवर्क – सी एम विटंकर
कॉमिक्स – भूतमहल
डबल सीक्रेट एजेंट 001/2 राम-रहीम
मनोज चित्र कथा

भूतमहल के नाम पर भी दो मानव कंकाल खोपड़ी इसे डरावना भी बना देती है. हम कॉमिक बुक आर्टिस्टों पर और भी चर्चा करेंगे, लेकिन अब समय हो चला ड्रैकुला सीरीज के पहले कॉमिक्स रिव्यु का जिसका नाम अब तक आप लोगों को पता चल ही गया होगा? अगर नहीं तो इस लेख का शीर्षक एक बार और पढ़ लीजिए क्योंकि अगले लेख पर बात होगी राम-रहीम के पहले कॉमिक्स और ड्रैकुला के उदय पर, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Indra And Vritra Paperbackअमर चित्र कथा

Indra And Vritra Paperback - C M Vitankar
इलस्ट्रेटर: सी एम विटंकर

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

5 thoughts on “कॉमिक्स बाइट फैक्ट्स: भूतमहल मनोज चित्र कथा (Bhootmahal – Manoj Chitra Katha)

  • October 4, 2020 at 9:41 pm
    Permalink

    सबसे पहले राम रहीम भूत महल और ड्रैकुला बालक उपन्यास फॉर्मेट में मनोज पॉकेट बुक्स में पब्लिश हुई थी इसमें लेखक का नाम रायजादा दिया गया है ।

    Reply
    • October 5, 2020 at 2:40 am
      Permalink

      ज्ञानवर्धन करने के लिए हार्दिक धन्यवाद पंकज जी, ये अनोखी बात बताई आपने!

      Reply
      • October 6, 2020 at 8:44 pm
        Permalink

        thanks for reply sir, अगर आप चाहे तो में आपको इस उपन्यास के फोटो whatsapp कर सकता हूँ क्योकि ये मेरे collection में है ।

        Reply
        • October 7, 2020 at 12:19 am
          Permalink

          आपके सहयोग के लिए हार्दिक धन्यवाद पंकज जी, पर अभी इसकी जरुरत नहीं है. कभी जानकारी की जरुरत पड़ी तो आपका ईमेल हमारे पास सुरक्षित है.

          Reply
  • Pingback: ड्रैकुला सीरीज: भूतमहल 'मनोज चित्र कथा' (Dracula Series - Manoj Chitra Katha) - Comics Byte

Leave a Reply

error: Content is protected !!