AdsComicsRaj Comics

बांकेलाल और तिलिस्मदेव – विंटेज राज कॉमिक्स विज्ञापन (Bankelal and Tilismdev – Vintage Raj Comics Advertisement)

Loading

कॉमिक्स के विंटेज विज्ञापन – राज कॉमिक्स में पहली बार बांकेलाल और तिलिस्मदेव एक साथ! (Vintage Advertisements of Comics – Bankelal and Tilismdev together for the first time in Raj Comics!)

मित्रों राज कॉमिक्स के विशेषांक की शुरुवात भी एक ‘टू इन वन’ कॉमिक्स ‘नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव’ से हुई थी और उसके बाद उनका दूसरा विशेषांक था सुपर कमांडो ध्रुव की ‘ग्रैंड मास्टर रोबो’। दोनों ही कॉमिक्स ने अपने समय में जो आग लगाई थी उसका अंदाजा आज आप लोग नए ‘आई फ़ोन’ के वर्शन के लिए किसी ‘एप्पल’ की दुकान के बाहर लगी लाइन को देखकर लगा सकते है। हम साक्षी है उस दीवानेपन के जिसे आजकल के बच्चे ‘एड्रलिन रश’ कहते है, इन नए कॉमिक्स को हाँथ लगा पाना बिलकुल भी आसान नहीं था। किसी पुस्तक या कॉमिक्स विक्रेता के यहाँ बार-बार चक्कर लगाना और नए प्रकाशित अंकों के बारे में जानकारी लेना नब्बें के पाठकों का अनोखा शगल था। लेकिन इन नए अंकों की जानकारी पाठकों को आखिरकार मिलती कहाँ से थीं? इसका सीधा जवाब तो पुराने प्रकाशित सेट्स में कॉमिक्स के पीछे छपे विज्ञापन होते थे और ऐसा ही एक विज्ञापन छापा गया था राज कॉमिक्स विशेषांक के तीसरे अंक के लिए जहाँ पहली बार एक साथ नजर आए थे ‘बांकेलाल और तिलिस्मदेव’ (Bankelal Aur Tilismdev)

Bankelal Aur Tilismdev - Raj Comics - Vintage Ad
Bankelal Aur Tilismdev – Raj Comics – Vintage Ad

इस विज्ञापन को राज कॉमिक्स के एक प्रख्यात आर्टिस्ट श्री जगदीश कुमार के द्वारा कुछ वर्ष पहले साझा किया गया था। बांकेलाल के कॉमिक्स की तरह ही यह विज्ञापन भी उतना ही चुलबुला है, एक ओर जहाँ तिलिस्मदेव भगवान भोलेनाथ की भक्ति में रमे हुए है वहीँ दूसरी ओर अपना ‘बांके’ तिलिस्मदेव की प्रसिद्धि से जल-भुन कर उनका तप ख़राब करने की फ़िराक में लगा हुआ है। यह कॉमिक्स अपने समय का एक क्लासिक टू इन वन राज कॉमिक्स विशेषांक था जिसे आज भी पाठकों की मांग पर रीप्रिंट किया जाता है।

Bankelal Aur Tilismdev - Vintage Raj Comics
Bankelal Aur Tilismdev – Vintage Raj Comics

अगर आप कॉमिक्स के आवरण को ध्यान से देखें तो पाएंगे की इस कॉमिक्स के साथ भी उस समय एक स्टैंडी मुफ्त दी जा रही थी हालाँकि विज्ञापन देखने से पता चलता है कि इसके साथ बांकेलाल के ‘फेस मास्क या मुखौटा’ को मुफ्त देने की घोषणा कि गई थी। राज कॉमिक्स अक्सर ऐसे बदलाव पहले भी किया करती थी और आज भी कई बार इसे दोहराते नजर आती है। इस विशेषांक की एक खास बात यह भी थी की इसके लिए एक और विशेष आवरण बनाया गया था लेकिन ‘फाइनल प्रिंट’ में वह अपनी जगह बनाने में नाकाम रहा जिसे कदम स्टूडियोज ने बनाया था। इसे आप लोग कॉमिक बुक क्रिएटर श्री अलोक शर्मा के ट्विटर अकाउंट पर भी देख सकते है जिसे कई वर्षों पहले साझा किया गया था।

Bankelal Aur Tilismdev - Raj Comics - Variant Cover
Bankelal Aur Tilismdev – Raj Comics – Variant Cover

क्रॉसओवर इवेंट तो आज भी होते है लेकिन उस दौर में कुछ ऐसा देखना और पढ़ना वो भी अपने काल के दो अलग-अलग शैली के नायकों को लेकर, भाई कमाल ही कहा जाएगा जिसके लिए राज कॉमिक्स की सम्पूर्ण टीम बधाई की पात्र है। क्या आपने बांकेलाल और तिलिस्मदेव कॉमिक्स पढ़ी है? हमें अपने कमेंट्स में ज़रूर बताएं, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Raj Comics | Bankelal Comics Collection | Set of 8 Origin Comics

Bankelal Comics Collection
Lok Yatra CE | Tausi Set 4 | Bankelal Set 9 | RCMG | Comics Byte Unboxing & Reviews

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!